तेलंगाना में तैयार हो रहा है दुनिया का पहला 3D प्रिंटेड मंदिर, देखें पूरी जानकारी

World First 3D Printed Hindu Temple
World First 3D Printed Hindu Temple

World First 3D Printed Hindu Temple

World First 3D Printed Hindu Temple – भारत में तेलंगाना राज्य में दुनिया का पहला 3D प्रिंटेड हिंदू मंदिर बनने जा रहा है. इस मंदिर का निर्माण सिद्दीपेट के बुरुगुपल्ली में किया जा रहा है. यह मंदिर गेटेड विला समुदाय चरविथा मीडोज के भीतर परिसर में स्थित है.

इस 3D प्रिंटेड हिंदू मंदिर का निर्माण 3,800 वर्ग फुट के क्षेत्र में किया जा रहा है. इसे दुनिया का पहला 3D प्रिंटेड मंदिर माना जा रहा है. इस अत्याधुनिक मंदिर का निर्माण अप्सुजा इंफ्राटेक कंपनी द्वारा सिद्दीपेट के बुरुगुपल्ली में किया जा रहा है. यह मंदिर गेटेड विला समुदाय चरविथा मीडोज के भीतर परिसर में स्थित है.

नवीनतम जॉब्स अलर्ट पाने के लिए

हमारे सोशल मीडिया ग्रुप से जुड़े

Join Our Telegram Group

Join Our Facebook Group

Join Our Whatsapp Group

दुनिया का पहला 3D प्रिंटेड मंदिर

खबरों की मानें तो यह मंदिर दुनिया का पहला 3D प्रिंटेड मंदिर है. यह मंदिर गेटेड विला समुदाय द्वारा बनाया जा रहा है. यह एक हिन्दू मदिर है. इस मंदिर का स्ट्रक्चर तीन-भाग में बंटा हुआ है. इस मंदिर के निर्माण के बाद इस तरह के मंदिरों के निर्माण का चलन भारत में और तेजी से बढने की उम्मीद किया जा रहा है. इससे मंदिर के निर्माण में क्रन्तिकारी परिवर्तन आएगा.

इस मंदिर के निर्माण के लिए अप्सूजा इंफ्राटेक (Apsuja Infratech) ने 3D प्रिंटेड कंस्ट्रक्शन कंपनी सिंप्लीफोर्ज क्रिएशन्स के साथ करार किया है.

Govt Jobs Alert in Hindi

अप्सुजा इंफ्राटेक के एमडी हरि कृष्ण जीदीपल्ली के अनुसार, मंदिर के स्ट्रक्चर की बात करें तो मंदिर के भीतर तीन गर्भगृह, भगवान गणेश को समर्पित एक ‘मोदक’ का प्रतिनिधित्व करते है.

साथ ही भगवान शिव को समर्पित एक वर्ग निवास और देवी पार्वती के लिए एक कमल के आकार का आसन बनाया जा रहा है.

मंदिर में देवी पार्वती को समर्पित कमल के आकार के मंदिर पर इस समय कार्य किया जा रहा है. साथ ही शिवालय और मोदक का काम पूरा होने के बाद, दूसरे फेज में कमल और मंदिर के गोपुरम पर कार्य किया जायेगा.

ऐसे हो रहा तैयार:

सरलीफोर्ज क्रिएशन्स के सीईओ ध्रुव गांधी ने बताया कि हम उम्मीद कर रहे हैं कि ‘मोदक’ से हमने जो सीखा है, उससे हम ‘कमल’ की डिज़ाइन को अच्छे से तैयार कर सकते है. आगे उन्होंने कहा कि गणेश मंदिर के साथ पहले ही साबित कर दिया है कि परंपरागत तकनीकों के साथ लगभग असंभव आकार 3 डी तकनीक का उपयोग करके आसानी से किया जा सकता है.

सिंप्लीफॉर्ज क्रिएशंस कंपनी की उपलब्धियां:

3D प्रिंटिंग में काम करने वाली कंपनी सिंप्लीफॉर्ज क्रिएशंस के पास इस तरह के 3D कार्यों का काफी अनुभव है. अभी हाल ही में कंपनी ने भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, हैदराबाद के साथ मिलकर दो घंटे से भी कम समय में भारत का पहला प्रोटोटाइप ब्रिज तैयार किया था.

सरलीफोर्ज क्रिएशन्स के सीईओ ने कहा:

इसका डिज़ाइन आईआईटी हैदराबाद के सिविल इंजीनियरिंग विभाग के प्रोफेसर केवीएल सुब्रमण्यम और उनकी टीम द्वारा किया गया था.

सरलीफोर्ज क्रिएशन्स के सीईओ ध्रुव गांधी ने बताया कि कार्यात्मक उपयोग के लिए लोड टेस्ट और एनालिसिस के बाद, मंदिर के चारों ओर बगीचे में पैदल यात्री पुल के रूप में इस तकनिकी (प्रोटोटाइप ब्रिज) का उपयोग किया जा रहा है.

महत्वपूर्ण लिंक

Age Calculator
Facebook Group
Telegram Group
Join WhatsApp Group
नवीनतम रोजगार समाचार, रिजल्ट, Current Affairs एवं अपडेट के लिए हमारे Telegram ग्रुप  और फेसबुक ग्रुप  को ज्वाइन करे और अपने दोस्तों के साथ शेयर करना न भूलें आपका एक शेयर किसी की नौकरी दिला सकता है.

यदि आपका कोंई विचार, सुझाव है तो हमें पोस्ट के निचे कमेंट सेक्शन में बेशक बताएं. जिससे हम वेबसाइट के कमियों को दूर करके और बेहतर बनाकर आपके सामने रख सकें. हमारे सभी पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ शेयर करना न भूलें.

Leave a Comment