गौतम अदानी ग्रुप और मुकेश अम्बानी ग्रुप के बीच हुआ no poaching agreement नहीं कर पायेंगें एक दुसरे के कर्मचारी को हायर

By | September 23, 2022

no poaching agreement between gautam adani group and mukesh ambani group नहीं कर पायेंगें एक दुसरे के कर्मचारी को हायर

no poaching agreement between gautam adani group and mukesh ambani group नहीं कर पायेंगें एक दुसरे के कर्मचारी को हायर
no poaching agreement between gautam adani group and mukesh ambani group

no poaching agreement between gautam adani group and mukesh ambani group

नो-पोचिंग एग्रीमेंट – दुनिया के दूसरे सबसे अमीर व्यक्ति गौतम अडानी Gautam Adani के अडानी समूह Adani Group और मुकेश अंबानी Mukesh Ambani की अगुवाई वाली रिलायंस इंडस्ट्रीज Reliance Industries Limited के बीच एक समझौता हुआ है. यह ‘नो-पोचिंग’ एग्रीमेंट No-Poaching Agreement है. बिजनेस इनसाइडर की एक रिपोर्ट में यह दावा किया गया है. इस समझौते के चलते दोनों समूह, एक दूसरे के यहां काम करने वाले टैलेंट की हायरिंग नहीं कर सकेंगे. समझौता इस साल मई से लागू हो गया है और गौतम अडानी और मुकेश अंबानी के सभी व्यवसायों पर लागू होगा.

रिपोर्ट के मुताबिक, जो बात इस समझौते को दिलचस्प बनाती है वह यह है कि यह समझौता भारत के दो सबसे बड़े समूहों के बीच है. हाल ही में दोनों समूहों ने उन क्षेत्रों में प्रवेश किया है, जहां दूसरे की अच्छी खासी मौजूदगी है. पिछले साल अडानी समूह ने अडानी पेट्रोकेमिकल्स लिमिटेड के साथ पेट्रोकेमिकल क्षेत्र में प्रवेश की घोषणा की, जहां रिलायंस इंडस्ट्रीज की बड़ी उपस्थिति है. दूसरा क्षेत्र जहां उनके रास्ते टकराते हैं वह है हाई-स्पीड डेटा सेवाएं. अडानी ने 5जी स्पेक्ट्रम के लिए बोली लगाई है.

नो-पोचिंग एग्रीमेंट तेजी से हो रहा प्रचलित

भारत में नो-पोचिंग एग्रीमेंट हमेशा से एक प्रैक्टिस के रूप में रहा है और भारत में तेजी से प्रचलित हो रहा है. इसकी वजह है कि टैलेंट के लिए जंग तेज हो गई है और मजदूरी की लागत बढ़ रही है. बढ़ती मजदूरी लागत कंपनियों के लिए एक जोखिम है, खासकर जहां प्रतिभा दुर्लभ है और संभावित बिडिंग वॉर इस जोखिम को बढ़ा सकती है. नो-पोचिंग एग्रीमेंट्स तब तक वैध हैं, जब तक कि वे किसी व्यक्ति के रोजगार पाने के अधिकार को सीमित नहीं करते हैं.

रिपोर्ट में कानून के जानकारों के हवाले से कहा गया है कि ऐसा कोई कानून नहीं है, जो दो एंटिटीज को ऐसे समझौतों को करने से रोके, तब तक जब तक कि वे उस क्षेत्र में वर्चस्व वाले प्लेयर न हों. अडानी ग्रुप और रिलायंस इंडस्ट्रीज का किसी भी क्षेत्र में संयुक्त आधार पर बाजार हिस्सेदारी में प्रभुत्व नहीं है.

2021 में अडानी की हर दिन 1,612 करोड़ की कमाई

गौतम अडानी ने साल 2021 में हर दिन 1,612 करोड़ रुपये की कमाई की है. इसका मतलब है कि अडानी की जेब में हर मिनट 1 करोड़ 10 लाख रुपये आए हैं. फोर्ब्स (Forbes) और ब्लूमबर्ग (Bloomberg) की दुनियाभर में अमीरों की सूची में दूसरे पायदान पर पहुंच चुके गौतम अडानी, IIFL वेल्थ हुरुन इंडिया रिच लिस्ट-2022 (IIFL Wealth Hurun India Rich List-2022) में शीर्ष पर रहे. हुरुन इंडिया रिच लिस्ट के अध्ययन में गौतम अडानी और उनके परिवार की संपत्ति 10.94 खरब रुपये हो गई है, जो कि पिछले साल की तुलना में 15% अधिक है. ग्लोबल रिच लिस्ट की तरह ही इस लिस्ट में भी अडानी, रिलायंस इंडस्ट्रीज Reliance Industries के चेयरमैन मुकेश अंबानी (मुकेश अंबानी और परिवार) से कहीं आगे हैं. अंबानी की संपत्ति पिछले एक साल में 11% बढ़कर 7.95 खरब हो गई है.

नवीनतम रोजगार समाचार, रिजल्ट, Current Affairs एवं अपडेट के लिए हमारे Telegram ग्रुप और फेसबुक ग्रुप को ज्वाइन करे और अपने दोस्तों के साथ शेयर करना न भूलें आपका एक शेयर किसी की नौकरी दिला सकता है.

हमारे सोशल ग्रुप से जुड़े

Join Telegram Group

Join Facebook Group

यह भी देखें –

दोस्तों हमारा प्रयास है की आप सभी तक विभिन्न जॉब्स, रिजल्ट की जानकारी सही समय तक पहुचें ताकि आप उस जॉब्स के लिए सही समय पर अप्लाई (आवेदन) कर सक्रें. यही हमारा उद्देश्य भी है. इसीलिए आप प्रतिदिन हमारे वेबसाइट को फॉलो करें जिसमे हम प्रतिदिन जॉब्स, रिजल्ट, Current Affairs आदि के बारें में अपडेट करते रहते है.

यदि आपका कोंई विचार, सुझाव है तो हमें पोस्ट के निचे कमेंट सेक्शन में बेशक बताएं. जिससे हम वेबसाइट के कमियों को दूर करके और बेहतर बनाकर आपके सामने रख सकें. हमारे सभी पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ शेयर करना न भूलें.

Free Job Alert

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *