मंकी बी वायरस’ कोरोना से है ज्यादा खतरनाक: Monkey B Virus is More Dangerous Than Corona

By | July 22, 2021

Monkey B Virus is More Dangerous Than Corona : चीन में मंकी बी वायरस के पहले मरीज की मौत, संक्रमित होने पर 80% तक मौत की दर.

Monkey B Virus is More Dangerous Than Corona
Chinies Monkey B Virus is More Dangerous Than Corona

Monkey B Virus is More Dangerous Than Corona : चीन में मंकी बी वायरस के पहले मरीज की मौत, संक्रमित होने पर 80% तक मौत की दर; जानिए इसके लक्षण और बचाव के उपाय. चीनी मंकी बी वायरस क्या है ? मंकी बी वायरस लक्षण क्या है? मंकी बी वायरस बंदर से इंसानों में पहुंचा.

मंकी बी वायरस’ कोरोना से है ज्यादा खतरनाक : Monkey B Virus is More Dangerous Than Corona

कोरोना संकट के बीच चीन में एक और वायरस से इंसान के संक्रमित और उसकी मौत होने का मामला सामने आया है. बंदर के जरिए फैलने वाले मंकी बी वायरस के संक्रमण की चपेट में आकर पशुओं के एक डॉक्‍टर की मौत हो गई है. यह चीन में इस वायरस से इंसान में फैले संक्रमण का पहला पुष्ट मामला है. यह वायरस कितना घातक है, इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि इससे संक्रमित लोगों के मरने की दर 70 से 80 फीसदी है.

ग्लोबल टाइम्स के अनुसार बीजिंग में जानवरों के एक डॉक्टर की मंकी बी वायरस से मौत का पहला मामला सामने आया है।.हालांकि डॉक्टर के संपर्क में आए लोग अभी पूरी तरह सुरक्षित हैं. 53 साल का ये पशु चिकित्सक एक इंस्टीट्यूट में नॉन-ह्यूमन प्राइमेट्स पर रिसर्च कर रहा था.

डॉक्टर ने मार्च में दो मृत बंदरों पर रिसर्च किया था. इसके बाद उसमें मतली और उल्टी के शुरुआती लक्षण नजर आए थे. रिपोर्ट के मुताबिक संक्रमित चिकित्सक का कई अस्पतालों में इलाज किया गया, लेकिन बाद में 27 मई को उसकी मौत हो गई.

सबसे पहले जानिए क्या है मंकी बी वायरस?

Chinies Monkey B Virus is More Dangerous Than Corona:- आईसीएमआर के पूर्व कंसल्टेंट डॉक्टर वीके भारद्वाज कहते हैं कि हर्पीस बी वायरस या फिर मंकी वायरस आमतौर पर वयस्क मैकाक बंदरों से फैलता है। इसके अलावा रीसस मैकाक, सूअर-पूंछ वाले मैकाक और सिनोमोलगस बंदर या लंबी पूंछ वाले मैकाक से भी यह वायरस फैलता है.

डॉक्टर भारद्वाज कहते हैं कि इसका इंसानों में पाया जाना दुर्लभ है, क्योंकि यह वायरस अब तक भारत के बंदरों में नहीं है, लेकिन अगर कोई इंसान इस वायरस से संक्रमित हो जाता है तो उसे तंत्रिका संबंधी रोग या फिर दिमाग से जुड़ी समस्या भी हो सकती है.

Monkey B Virus
Monkey B Virus

इस तरह बंदरों से इंसानों में फैल सकता है वायरस

डॉक्टर भारद्वाज कहते हैं कि वैसे तो अभी इंसानों में इसके संक्रमण का खतरा काफी कम है, फिर भी संक्रमित मैकाक बंदरों के संपर्क में आने से यह वायरस इंसानों में आ सकता है।

Monkey b Virus 2
Monkey b Virus

इस वायरस के लक्षण 1 महीने के भीतर नजर आने लगते हैं

डॉक्टर भारद्वाज कहते हैं कि इंसानों में वायरस के लक्षण एक महीने के भीतर या फिर 3 से 7 दिनों में भी दिखाई दे जाते हैं। इसके लक्षण सभी लोगों में समान नहीं होते हैं।

समय से पता चलने पर हो सकता है इलाज

बोस्टन पब्लिक हेल्थ कमीशन की रिपोर्ट के मुताबिक इस वायरस से संक्रमित व्यक्ति को समय पर इलाज न मिले तो लगभग 70% मामलों में मरीज की मौत हो सकती है. ऐसे में अगर आपको किसी बंदर ने काट लिया है या खरोंच दिया है तो हो सकता है कि वो बी वायरस का कैरियर हो. ऐसी स्थिति में तुरंत प्राथमिक चिकित्सा शुरू कर देनी चाहिए. घाव वाली जगह को साबुन और पानी से अच्छी तरह साफ करें.

कमीशन की रिपोर्ट के मुताबिक, मंकी बी वायरस के इलाज के लिए एंटी वायरल दवाएं तो उपलब्ध हैं, लेकिन अब तक कोई वैक्सीन नहीं बनी है.

दोस्तों हमारा प्रयास है की आप सभी तक विभिन्न जॉब्स, रिजल्ट की जानकारी सही समय तक पहुचें ताकि आप उस जॉब्स के लिए सही समय पर अप्लाई (आवेदन) कर सक्रें. यही हमारा उद्देश्य भी है. इसीलिए आप प्रतिदिन हमारे वेबसाइट को फॉलो करें जिसमे हम प्रतिदिन जॉब्स, रिजल्ट, Current Affairs आदि के बारें में अपडेट करते रहते है.

नवीनतम रोजगार समाचार, रिजल्ट, Current Affairs एवं अपडेट के लिए हमारे Telegram ग्रुप और फेसबुक ग्रुप को ज्वाइन करे.

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *