Computer Hardware and Software Block Diagram of a Computer

By | July 20, 2021

Computer Hardware and Software Block Diagram of a Computer :- कंप्यूटर सिस्टम का ब्लाक डायग्राम और उसके विभिन्न भागों को जानिये विस्तार से.

Computer Hardware and Software Block Diagram of a Computer
Computer Hardware and Software Block Diagram of a Computer

Computer Hardware and Software Block Diagram of a Computer

Computer Hardware :-कंप्यूटर के वे सभी भाग जिन्हें हम छू सकते है तथा देख सकते है, कंप्यूटर हार्डवेयर कहलाता है. जैसे- कीबोर्ड, माउस, मॉनिटर, CUP, स्पीकर इत्यादि.

Computer Software :- कंप्यूटर के वे भाग जिन्हें हम केवल देख सकते है लेकिन उन्हें छू नहीं सकते कंप्यूटर सॉफ्टवेयर कहलाता है. वर्ड, एक्सेल, pagemaker, पेंट इत्यादि.

कंप्यूटर को समझने के लिए उसके ब्लाक डायग्राम को समझे जो निचे दिया गया है:

Block Diagram of Computer
Block Diagram of Computer

Computer के Block Diagram में निम्नलिखित तीन बिंदु गई:-

  1. Input Unit *इनपुट यूनिट)
  2. Central Processing Unit (सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट)
  3. Output Unit (आउटपुट यूनिट)

1. Input Unit

Input Unit एक उपकरण है. यह user के द्वारा दिए गए निर्देशों ओ data को लेता है तथा इब निर्देशों और data को Computer में भेजता है. Computer में भेजे गए निर्देश और dataबायनरी भाषा में लिखे होना चाहिए, क्योंकि Computer सिर्फ बायनरी भाषा (Machine Language) को ही समझता है, अतः कंप्यूटर बायनरी data व निर्देशों को आसानी से पढ़ सकता है तथा क्रियान्वित कर सकता है. Computer System अपनी आवश्कताओ के अनुसार निम्नलिखित input device में से एक या उससे अधिक device का उपयोग कर सकता है:-

  • पंच कार्ड रीडर
  • पेपर टेप रीडर
  • मैग्नेटिक इंक करैक्टर रीडर (MICR)
  • ऑप्टिकल करैक्टर रीडर (OCR)
  • माउस
  • वौइस् डाटा एंट्री टर्मिनल (VDE)
  • रिमोट टर्मिनल
  • मैग्नेटिक टेप रीडर
  • मैग्नेटिक डिस्क और फ्लॉपी डिस्क रीडर
  • टेली टाइप रीडर

2. Central Processing Unit (CPU)

Central Processing Unit, Computer में अंकगणितीय सम्बन्धी सभी कार्य करता है. तार्किक निर्णय लेकर दुसरे यूनिट के कार्यों को नियंत्रित करता है. यह समस्त Storage उपकरणों को शामिल करता है इसलिय Central Processing Unit को Computer का हार्ट या नर्व सेंटर कहा जाता है. उपरोक्त कार्यों को करने के लिए CPU में निम्नलिखित सह यूनिट होते है:-

  1. कण्ट्रोल एंड टायमिंग यूनिट (CTU)
  2. अरिथमेटिक एंड लॉजिक यूनिट (ALU)
  3. मेमोरी यूनिट
  1. कण्ट्रोल एंड टायमिंग यूनिट (CTU) :- यह Computer की सबसे जटिल यूनिट होती है और ट्रैफिक पुलिस की तरह कार्य करती है. Computer में प्रत्येक प्रक्रिया के लिए यह यूनिट विशेष तरह के Timing व Control Signal उत्पन्न करती है. इन सिग्नलों की मदद से Control एवं Timing यूनिट निम्न कार्य करती है-
  • यह सबसे पहले Input डाटा बस से निर्देशों को ग्रहण कर पढता है.
  • यह किसी निर्देश के एड्रेस को एड्रेस बस तक पहुचता है.
  • यह प्राप्त निर्देशों को डिकोड सर्किट तक भेजता है ताकि उसे उचित कोड में बदला जा सकें.
  • यह एड्रेस, उपकोदेअपरेंड(data) को मेमोरी से पढता है, क्योंकि किसी प्रक्रिया को पूर्ण करने के लिए इन सभी की आवश्यकता होती है.
  • यह निर्देश के प्रत्येक भाग को उनके उचित स्थान तक पहुचाता है.
  • यह रिजल्ट को संग्रह करने के लिए मेमोरी या रजिस्टर तक पहुंचाता है.
  • यह सम्पूर्ण प्रोग्राम को प्राप्त करके पढने के लिए प्रोग्राम काउंटर का मान घटाता या बढाता है.

2. अरिथमेटिक एंड लॉजिक यूनिट (ALU) :- यह अपने नाम के अनुरूप सभी तरह की अंकगणितीय प्रक्रियाएं, जैसे- add, subtract, multiply, divide इत्यादि के साथ ही सभी Logical Function जैसे- Compare, Shift, Rotate, and, or इत्यादि का क्रियान्वयन करता है.

3. मेमोरी यूनिट :- मेमोरी यूनिट सभी निर्देशों तथा data को संग्रह करती है. इस यूनिट को प्राइमरी स्टोरेज, या Main Memory या फिर Immediate Access Memory (IAM) भी कहा जाता है. आदर्श मेमोरी वह है, जिससे सभी सूचनाओं को संगृहीत किया जा सकता है तथा आवश्यकता के अनुसार तीव्रता से सूचनाओं को प्राप्त किया जा सकता है. सूचनाओं के शेष भाग को Secondary Storage Device में संग्रह किया जाता है. Secondary Storage Device को Auxiliary Memory भी कहा जाता है. दुसरे शब्दों में औक्सिलियाry Memory को ExternalMemory या बैंकिंग स्टोर्स कहा जाता है. External Memory में फ्लॉपी या मेगनेटिक टेप होती है. यह बहुत उपयोगी है. Main मेमोरी की तुलना में यह धीमी है तथा यह CPU का भाग नहीं होता है. यह Memory सूचनाओं को प्राप्त करने में कम समय लेती है, तब इसे तीव्र Memory कह सकते है.

3. Output यूनिट

Output यूनिट user को परिणाम (रिजल्ट) प्रदान करती है. जिस प्रकार input Unit User तथा कंप्यूटर को जोड़ने का कार्य करती है, उसी तरह output यूनिट भी User तथा कंप्यूटर के बीच में संचार के लिए लिंक बनती है. जब कंप्यूटर में विशेष निर्देशों के अनुसार data पर ऑपरेशन किया जाता है, तब इस यूनिट की सहायता से ही Computer user को सुचना प्रदान करता है. यधपि कंप्यूटर बायनरी भाषा में कार्य करता है, पर इसके द्वारा दिए गए output को User द्वारा आसानी से समझा जा सकता है. जिस भाषा में output दिया जाता है, उसे हाई लेवल Language कहते है. input उपकरण की तरह ही output उपकरण भी बहुत से होते है, जिनमे से कुछ मुख्य ओउतपुर उपकरण निम्नलिखित है-

  1. प्रिंटर
  2. मोनिटर
  3. स्पीकर
  4. प्लोटर

दोस्तों हमारा प्रयास है की आप सभी तक विभिन्न जॉब्स, रिजल्ट की जानकारी सही समय तक पहुचें ताकि आप उस जॉब्स के लिए सही समय पर अप्लाई (आवेदन) कर सक्रें. यही हमारा उद्देश्य भी है. इसीलिए आप प्रतिदिन हमारे वेबसाइट को फॉलो करें जिसमे हम प्रतिदिन जॉब्स, रिजल्ट, Current Affairs आदि के बारें में अपडेट करते रहते है.

यही आपका कोंई विचार, सुझाव है तो हमें पोस्ट के निचे कमेंट सेक्शन में बेशक बताएं. जिससे हम वेबसाइट के कमियों को दूर करके और बेहतर बनाकर आपके सामने रख सकें.

नवीनतम रोजगार समाचार, रिजल्ट, Current Affairs एवं अपडेट के लिए हमारे Telegram ग्रुप और फेसबुक ग्रुप को ज्वाइन करे.

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *