संगीत (म्यूजिक) में अपना करियर कैसे बनाये?

By | February 12, 2021

Career in Music:- इन दिनों देश दुनिया में संगीत केवल मनोरंजन का ही साधन नहीं रह गया है बल्कि हर किसी के लिए कैरियर का विकल्प भी है.

Carrer in Music
Career in Music

Career in Music

Career in Music:- इन दिनों देश दुनिया में संगीत केवल मनोरंजन का ही साधन नहीं रह गया है बल्कि हर किसी के लिए कैरियर का विकल्प भी है. विश्व में तेजी से बदलते परिदृश्य में आजकल संगीत विशेषकर भारतीय संगीत एक अहम प्रोफेशन बन चुका है. इसलिए युवाओं में इस क्षेत्र को लेकर क्रेज बढ़ गए हैं. संगीत में कैरियर शुरू करने के लिए आपके पास संगीत में गहरी रुचि रखने के साथ-साथ संगीत वाद्य यंत्रों की समझ भी होनी चाहिए.

यदि आप अपना कैरियर संगीत के क्षेत्र में बनाना चाहते हैं तो आप इन प्रमुख कोर्सेज को 12वीं के बाद करके अपना कैरियर चालू कर सकते हैं.

Career in Music:- संगीत के लिए ट्रेनिंग की व्यवस्था छोटे से लेकर बड़े शहरों तक में उपलब्ध है. कोर्सेज यूजी, पीजी, सर्टिफिकेट, डिप्लोमा एवं पार्ट टाइम प्रकार के हो सकते हैं. यूनिवर्सिटी व संगीत अकादमीयों में ऐसे ट्रेनिंग कोर्सट्रेंनिंग कोर्सेज स्कूली बच्चों व युवाओं के लिए उपलब्ध हैं. 12वीं के बाद संगीत से जुड़े सर्टिफिकेट, बैचलर, डिप्लोमा, पोस्ट ग्रेजुएट स्तर के कोर्सेज में प्रवेश ले सकते हैं. दसवीं के बाद भी कई कोर्स उपलब्ध हैं. संगीत में डिप्लोमा सर्टिफिकेट के अलावा वाद्य यंत्रों की बारीकी को समझने को लेकर सर्टिफिकेट उपलब्ध है. वही 12वीं के बाद संगीत में ग्रेजुएशन और बीए ऑनर्स कर सकते हैं. ग्रेजुएशन के बाद संगीत में एमए, एमए ऑनर्स, एमफिल व मास्टर्स के बाद संगीत में पीएचडी भी की जा सकती है.

Career in Music:- वर्तमान में संगीत से संबंधित कुछ पहलुओं के विषय में भी जानने की आवश्यकता है. जैसे कि यदि कोई व्यक्ति शास्त्रीय संगीत में कुछ करना चाहता है तो उसे हर हाल में अपने आप को किसी संगीत घराने से जोड़कर ही संगीत सीखना होगा और यदि कोई कॉलेज या स्कूल में संगीत का शिक्षक बनना चाहता है तो उसे इसके लिए कहीं ना कहीं से डिग्री लेनी होगी. संगीत के क्षेत्र में डिमांड के अनुसार लोग काम करते हैं जैसे वोकल म्यूजिक और शास्त्रीय संगीत दोनों की ही डिमांड अलग होती है. इसलिए इसे किसी विशेष परिधि में बांधना सही नहीं है क्योंकि यह एक क्रिएटिव फील्ड है और क्रिएटिविटी की कोई निश्चित परिधि नहीं होती. बस रियाज जरूरी है.

Career in Music:- यदि आप अच्छे संगीतज्ञ व परफ़ॉर्मर हैं तो करोड़पति बनने में ज्यादा समय नहीं लगेगा. आरजे, वीजे, रेडियो जॉकी के रूप में कैरियर की शुरुआत कर ₹15000 प्रतिमाह कमा सकते हैं. देश दुनिया में युवाओं के बीच संगीत से जुड़े बैंड बनाने व परफॉर्म करने का ट्रेंड जोर पकड़ता जा रहा है. ऐसे बैंड्स में वोकल आर्टिस्ट (गायक) व इंस्ट्रुमेंटल आर्टिस्ट (वाद्ययंत्र कलाकार) दोनों का ही समन्वय देखा जा रहा है. दोनों एक दुसरे के बिना अधूरे है.

  • स्टेज परफॉर्मेंस:- म्यूजिक शो, टेलीविजन म्यूजिक प्रोग्राम, म्यूजिक कंपटीशन, आर्म्ड फोर्सेज बैंड्स, सिंफनी आर्केस्ट्रा, डांस बैंड, नाइट क्लब, कॉन्सर्ट शो, रॉक एंड जैज़ ग्रुप में प्रोफेशनल्स की मांग है.
  • म्यूजिक इंडस्ट्री:- इसमें कई पारंगत लोगों की अहम भूमिका है.
  • स्टूडियो ट्रेनिंग:- स्कूल, कॉलेजों, संगीत प्रशिक्षण संस्थाओं में काम कर सकते हैं.
  • संगीत थैरेपिस्ट:- संगीत तनाव दूर करने में अहम भूमिका निभाता है. इसके प्रोफेशनल के लिए हॉस्पिटल मेंटल हेल्थ सेंटर, नर्सिंग होम्स में रोजगार हैं.
  • त्योहारों में:- आजकल हमारे देश में खासकर हिन्दू त्योहारों में नवरात्री और गणेश पूजा के समय म्यूजिक शो, म्यूजिक प्रोग्राम, आर्केस्ट्रा, कॉन्सर्ट शो की मांग दिनों दिन बढती जा रही है.

यहां से ले सकते हैं शिक्षा:-

1. इंदिरा कला संगीत विश्वविद्यालय खैरागढ

2. भारतीय कला केंद्र दिल्ली

3. अखिल भारतीय गांधर्व महाविद्यालय मुंबई

4. भातखंडे म्यूजिक स्कूल नई दिल्ली

5. अजमेर म्यूजिक कॉलेज अजमेर

6. वनस्थली विद्यापीठ राजस्थान

नवीनतम रोजगार समाचार एवं अपडेट के लिए हमारे whatsapp ग्रुप को ज्वाइन करे यहाँ क्लिक करे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *